BREAKING NEWS
latest
News
राज्य

राष्ट्रीय-खबरें-राज्य-

News/block-7

राज्य

राज्य/block-5

आपके शहर की खबर

आपके शहर की खबर/block-3

राजनीति

राजनीति/block-6

मनोरंजन

मनोरंजन/block-6

धर्म

धर्म/block-3

"खेल"

खेल/block-3

"लेख"

लेख/block-3

ख़बरें जरा हटके

ख़बरें जरा हटके/block-10

Latest Articles

श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ में आचार्यश्री यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. का 60 वां पूण्यदिवस मनाया गया



राजगढ़ (धार) म.प्र. । श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ के तत्वाधान में दादा गुरुदेव की पाट परम्परा के चतुर्थ पट्टधर व्याख्यान वाचस्पति पीताम्बर विजेता आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. का 60 वां पूण्यदिवस श्री मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पावनतम निश्रा एवं मुनिराज श्री चन्द्रयशविजयजी म.सा., मुनिराज श्री पुष्पेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री रुपेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जिनचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जीतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जनकचन्द्रविजयजी म.सा., साध्वी श्री किरणप्रभाश्री जी म.सा., साध्वी श्री सद्गुणाश्री जी म.सा. आदि ठाणा के सानिध्य में मनाया गया ।

इस अवसर पर आचार्यश्री ने कहा कि आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. ने दादा गुरुदेव का अर्धशताब्दी महोत्सव मनाकर श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ का व्यापक प्रचार प्रसार किया । गुरु ही हमें परमात्मा तक पहुंचने का मार्ग प्रशस्त करते है । गुरु में अपार शक्ति होती हैं । मनुष्य जाति से नहीं अपने कर्मो से महान बनता है । आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के प्रथम शिष्य मेरे पूज्य गुरुवर पंचम पट्टधर आचार्यश्री विद्याचन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. हुये थे और मैं मेरे गुरु का अन्तिम शिष्य हूॅ । आज त्रिस्तुतिक परम्परा में सभी साधु साध्वी भगवन्त आपके ही शिष्य परिवार के अग्रज है व समाज में ज्ञान का दीपक प्रकाशित कर रहे है । मुनिराज श्री चन्द्रयशविजयजी म.सा. ने कहा कि जो यतनापूर्वक जीवन निर्वाह करें उसे यति कहते है । आचार्यश्री एक सच्चे सद्गुरु थे उन्होंने तीर्थ के साथ समाज सुधार कर नयी दिशा दी । व्याख्यान वाचस्पति की उपाधि उनको आचार्य श्री धनचन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. ने प्रदान की । मुनिराज श्री पुष्पेन्द्रविजयजी म.सा. ने कहा कि आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. का दादा गुरुदेव के प्रति अपार समर्पण था । वे इतिहासवेत्ता थे उन्होंने जहां जहां विहार किया उसका इतिहास सहित विवरण यतीन्द्र विहार दिग्दर्शन में प्रस्तुत किया जो आज के समय में भी उपयोगी है । साध्वी श्री विनयदर्शिताश्री जी ने भी अपने विचार व्यक्त किये । ट्रस्ट मण्डल की और से मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ ने कहा कि आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. का वात्सल्य मुझे भी राणापुर के चातुर्मास में प्राप्त हुआ उस वक्त मेरी उम्र लगभग 9 या 10 वर्ष की रही होगी । गुरु की शक्ति को कोई नहीं पहचान सकता यह बात मेने उस समय महसुस की थी । गुरु अपनी शक्ति से अपने भक्त का पूरा जीवन सवार देते है । जो गुरु को अपने मन में बसा लेते है उनके जीवन में कभी संकट आता ही नहीं है । मुझे याद है कि आचार्य यतीन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. ने राणापुर के भंसाली परिवार को ऐसा आशीर्वाद दिया कि उनका जीवन सफल हो गया ।

आचार्य श्री ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की प्रेरणा से स्व लालचंदजी एवं हितेशकुमार खजांची के आत्मश्रेयार्थ श्रीमती लीलादेवी लालचंदजी खजांची परिवार के पुत्र- राजेन्द्रकुमार, तेजकुमार, सुनिलकुमार खजांची गोठी परिवार की और से आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के 60 वें पूण्य दिवस पर स्वामीवात्सल्य का आयोजन किया गया ।

कार्यक्रम में तीर्थ के मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ, ट्रस्टी- मांगीलाल पावेचा, कमल लुणिया एवं राजगढ़ श्रीसंघ अध्यक्ष मणीलाल खजांची, जयंतीलाल कंकुचौपड़ा, दीपक बाफना, प्रकाश छाजेड़, सेवतीलाल मोदी, कैलाश जैन पिपलीवाले, दिलीप पुराणी, संतोष चत्तर, श्रीमती मंजू पावेचा, श्रीमती चन्द्रकांता सेठ, श्रीमती अरुणा सेठ, श्रीमती अंगुरबाला खजांची, श्रीमती कल्पना खजांची, श्रीमती संतोष खजांची, महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता, सहप्रबंधक प्रीतेश जैन सहित बड़ी संख्या में समाजजनों ने चतुर्थ आचार्य श्री यतीन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. को श्रद्धा सुमन अर्पित किये ।

राजेन्द्रसूरि जैन चिकित्सालय में निःशुल्क स्वास्थ्य एवं नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन हुआ



राजगढ़ (धार) म.प्र.। श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ द्वारा संचालित श्री गुरु राजेन्द्रसूरि जैन चिकित्सालय में निःशुल्क स्वास्थ्य एवं नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया । जिसमें 105 सामान्य मरीजों का परीक्षण, 135 महिलाओं का गायनिक परीक्षण, 85 बच्चों का परीक्षण एवं 310 मरीजों के नेत्र परीक्षण किये गये । इस अवसर पर दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के श्री मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. द्वारा पेथालाजी लेबोरेट्री का भव्य शुभारम्भ किया गया । शुभारम्भ के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा करते हुये आचार्यश्री ने कहा कि इस अस्पताल में मरीजों की लेबोरेट्री सम्बन्धित सभी समस्याओं का समाधान कर दिया गया है यहा सभी जांचे की जा सकेगी सिर्फ थाईराईड की ही जांच नहीं हो पायेगी । निकट भविष्य में नर्सिंग होम भी शुरु किया जावेगा । आज जिन मरीजों का नेत्र परीक्षण किया गया है उनका आपरेशन अमेरिकन फेको मशीन द्वारा किया जावेगा । इस अस्पताल में बच्चों के डाॅक्टर को भी नियुक्त किया जा चूका है जो नियमित प्रतिदिन चार घण्टे अपनी सेवाऐं प्रदान करेगें । निकट समय में प्रसुति सम्बन्धित व्यवस्था भी यहां पर चालु की जावेगी । इस अस्पताल में चार-चार डायलेसिस मशीने निरंतर कार्य कर रही है । हमारे यहां हेपेटाईटिस बी और सी के मरीजों का भी उपचार डायलेसिस मशीन द्वारा किया जा रहा है । आचार्यश्री ने भी डाॅ. राजेश देवड़ा से अपने नेत्रों का परीक्षण लेबोरेट्री उद्घाटन के अवसर पर करवाया । सभी आसपास के रहने वाले इस सुविधाओं का लाभ ले । कार्यक्रम में दीपप्रज्जवलन तीर्थ के महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता ने किया । शिविर में डाॅ. राजेश देवड़ा, डाॅ. सतीश पारासर, डाॅ. खान, डाॅ. दिप्ती जैन, नेत्र सहायक ममता पारासर व शिरिष पटेल, मेहताब भाई ने योगदान दिया ।


श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ में मकर संक्रांति पर आचार्यश्री की महामांगलिक का हुआ आयोजन



राजगढ़ (धार) म.प्र. 14 जनवरी 2021 । श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ के तत्वाधान में दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के श्री मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के मुखारविंद से साधु-साध्वीवृंद की उपस्थिति में पौष सुदी एकम मकर संक्रांति के अवसर पर आचार्यश्री की महामांगलिक का आयोजन हुआ ।

आचार्यश्री ने मकर संक्रांति का महत्व बताते हुये कहा कि इस वर्ष चन्द्रमां श्रवण नक्षत्र में और सूर्य उतराषाढा नक्षत्र में प्रवेश कर रहा है ऐसे दूर्लभ संयोग में 28 वें अभिजित नक्षत्र का उदय हो जाता है । आचार्यश्री ने कहा कि जब सूर्य उतराषाढ़ा नक्षत्र में प्रवेश करता है तब तिल तिल दिन बढ़ने लगता है । ग्रह अपनी चाल के अनुसार धर्म अर्थ काम मोक्ष इन चार मार्गो पर आगे बढ़ते है पर इस शुभ नक्षत्र में ग्रह अर्थ के मार्ग पर आगे बढ़ रहे है । जिससे पूरे देश में आर्थिक मंदी का दौर समाप्त होगा और देश में चारों और खुशहाली समृद्धि बढ़ेगी । मकर संक्रांति की सभी गुरु भक्तों को मेरी और से बधाई । आचार्यश्री ने गुरु सप्तमी महामहोत्सव के बारे में बताते हुये कहा कि ट्रस्ट मण्डल के निर्णयानुसार सभी आने वाले गुरु भक्तों को गुरु सप्तमी के दिन प्रातः 5 बजे से 9 बजे तक सिर्फ वासक्षेप पूजा की अनुमति मध्यप्रदेश शासन की गाईड लाईन के अनुसार दी जावेगी । महामांगलिक में तीर्थ के मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ एवं महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता उपस्थित थे ।

बर्ड फ्लू की आशंका के चलते सक्रिय पशु चिकित्सा विभाग... राजगढ़ में दो मृत कबूतर को दफनाया...




  राजगढ़(धार)। देशभर में बर्ड फ्लू को लेकर सभी सावधानी से रहना चाहते है इसी आशंका को लेकर जिले के राजगढ़ में बुधवार को दो स्थानों पर कबूतरों की मृत होने की खबर लगते ही पशु चिकित्सा विभाग सक्रिय हो गया है। बताया जाता है कि सरदारपुर तहसील के ग्राम बड़ोदिया में 11 जनवरी को एक मृत कबूतर मिला था जिसका सेंपल पशु चिकित्सा विभाग भेज चुका है। वही जानकारी अनुसार राजगढ़ नगर के वैभव कॉलोनी में हरी सिंह बामनिया के घर पर मृत कबूतर की सूचना वन विभाग के वन रक्षक सोहन वास्केल ने दी थी तथा दूसरा ऋषभ एग्रो एजेंसी के पीछे प्रकाश पंडित के मकान की छत पर मृत कबूतर की सूचना किराएदार नीलेश विनोद सेन पारा वाले ने दी जिसकी सूचना पर पशु चिकित्सक डॉक्टर अशोक मालवीय के साथ टीम ने मृत कबूतरों को नगर के बाहर ,2 किलो चुना ओर एक किलो नमक डालकर 2 फिट का गढ्ढा में दफनाया ताकि दूसरे पशु पक्षियों को संक्रमित नही हो। जानकारी अनुसार बताया जा रहा है कि भेजे गए सेंपल की जांच रिपोर्ट नहीं आई है।

बायो हिल हेल्थ केयर नि:शुल्क थैरेपी सेन्टर का उदघाटन हुआ




  राजगढ़ (धार)। राजगढ मे राजेंद्र काँलोनी स्तिथ ,भारत गैस ऐजेन्सी के सामने वैष्णव भवन मे  बायो हिल हेल्थ केयर नि:शुल्क थैरेपी सेन्टर का उदघाटन हुआ है।  मुख्य अतिथि ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तम जी भारद्वाज माताजी मंदिर राजगढ़, विशेष अतिथि गोपाल सोनी,नवीन बानिया,पत्रकार सुनील बाफना मंचासीन थे।

 हेल्थ केयर सेंटर के कमलेश सैनी ने बताया सेंटर पर न्यूनतम तरंग सिध्दांत एव F.I.R किरणो के द्वारा शरीर के सभी बिमारिया - शुगर ,B.P. साईटिका,पथरी,स्लिप डिस्क,घुटनो का दर्द,सर्वाईकल,लकवा,मोटापा थॉयराईड,गैस कब्ज आदि रोगो का ईलाज बगैर इंजेक्शन,बगैर दवाईया बगैर आपरेशन तथा बगैर किसी साईड इफेक्ट के स्वस्थ होंगे।

  इस अवसर पर नीरज सिंह राजावत, मुकुल यादव,अरुण प्रताप सिंह राजावत मौजूद थे

श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ में जरुरतमंदों को कम्बल,राशन सामग्री,साड़ी का वितरण हुआ....


राजगढ़ (धार) म.प्र. । श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ के तत्वाधान में दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के श्री मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. व साधु-साध्वीवृंद की पावनतम निश्रा में एक हजार से अधिक राशन सामग्री के कीट, कम्बल व साड़ीयों का जरुरतमंदों को वितरण परम गुरुभक्त थराद/अहमदाबाद (गुज.) निवासी श्री महेन्द्रकुमारजी मफतलालजी वोरा की पूण्य स्मृति में उनकी धर्मपत्नि श्रीमती मंजुबेन, पुत्र- मुनीर भाई वोरा परिवार द्वारा किया गया ।

इस अवसर पर तीर्थ के मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ, ट्रस्टी संजय सराफ, वरिष्ठ समाजसेवी पुष्पराज बोहरा, संतोष नाकोड़ा व तीर्थ के महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता, सहप्रबंधक प्रीतेश जैन सहित स्टाफगण उपस्थित थे ।

इस वर्ष श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ में गुरु सप्तमी मेला नहीं होगा



राजगढ़ (धार) म.प्र. 13 जनवरी 2021 । श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ पर दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की प्रतिवर्ष गुरु सप्तमी महामहोत्सव वार्षिक पुण्यतिथि मनाई जाती है इस वर्ष गुरु सप्तमी महामहोत्सव 20 जनवरी 2021 को मनाया जाना तय था पर इस वर्ष कोरोना काल व सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान मेंं रखते हुए ट्रस्ट मंडल ने गुरु सप्तमी को महामहोत्सव ओर मेले के रूप में नहीं मनाने का निर्णय लिया है ।

दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के श्री मोहनखेड़ा तीर्थ विकास प्रेरक वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के मार्गदर्शन में गुरुदेव प्रभु श्री राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. का 194 वां जन्मदिवस व 114 वां पुण्यतिथि दिवस 20 जनवरी 2021 को मनाया जावेगा । श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि तीर्थ की पावन पूण्य भूमि पर कोविड 19 पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा प्रदत्त सरकारी गाईड लाईन के तहत दर्शनार्थीयों के लिये दर्शन, वंदन, आवास व भोजन व्यवस्था रहेगी । 65 वर्ष की उम्र से अधिक के श्रद्धालु व बच्चों को साथ में नहीं लावे । इस वर्ष गुरु सप्तमी मेले का कोई आयोजन नहीं किया जा रहा है । म.प्र. शासन की गाईड लाईन का पालन करते हुये सभी आगन्तुक अतिथियों को कोविड 19 के तहत् मास्क पहनना जरुरी होगा । किसी भी प्रकार की सार्वजनिक पूजा अर्चना बंद रखी गयी है । ट्रस्ट के महामंत्री फतेहलाल कोठारी एवं मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ ने बताया है कि गुरु सप्तमी के दिन किसी भी प्रकार का मंच कार्यक्रम, संगीत भक्ति, कविसम्मेलन आदि का आयोजन नहीं किया जावेगा । हर आगन्तुक यात्रीयों को अपना आधार कार्ड साथ लाना जरुरी होगा ।