BREAKING NEWS
latest
News
राज्य

English News

English News/block-7

राज्य

राज्य/block-5

आपके शहर की खबर

आपके शहर की खबर/block-3

राजनीति

राजनीति/block-6

मनोरंजन

मनोरंजन/block-6

धर्म

धर्म/block-3

"खेल"

खेल/block-3

"लेख"

लेख/block-3

ख़बरें जरा हटके

ख़बरें जरा हटके/block-10

Latest Articles

सर्दी, जुखाम, खाँसी, बुखार का कोई मरीज छूटे नहीं,सबकी पहचान कर इलाज करें,प्रधानमंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश के कोरोना नियंत्रण मॉडल की प्रति मंगवाई,मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कोरोना की ‍स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की

Chief-Minister-Shivraj-Chouhan-reviewed-the-status-and-arrangements-of-Corona


  MP NEWS:  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण समाप्त करने के लिए चलाए जा रहे किल कोरोना अभियान के अंतर्गत घर-घर किए जा रहे सर्वे में इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए कि सर्दी, जुखाम, खाँसी, बुखार का कोई मरीज छूटे नहीं। हर मरीज को खोज निकालना है तथा नि:शुल्क मेडिकल किट देकर तुरंत इलाज प्रारंभ करना है। अधिक से अधिक कोरोना टेस्ट कराएं तथा एक-एक मरीज का इलाज करें। सर्वोत्तम इलाज के द्वारा मृत्यु दर को न्यूनतम किया जाए।


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश के कोरोना नियंत्रण के मॉडल की प्रति मँगाई है। मध्यप्रदेश का मॉडल अन्य राज्यों को भिजवाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश में कोरोना नियंत्रण के लिए मंत्रीगणों, जन-प्रतिनिधियों, अधिकारीगणों सहित पूरी टीम को बधाई दी है तथा जनता का आभार माना है।

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान  ने कहा कि वे 14 मई को शाम 7 बजे सभी मंत्रीगणों, जन-प्रतिनिधियों, अधिकारीगण, कोरोना कार्य में लगे हुए पूरे अमले तथा प्रदेश की जनता को सीधे संबोधित करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना‍ नियंत्रण कोर ग्रुप के सदस्यों से चर्चा की तथा प्रदेश के जिलों में कोरोना की‍ स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। बैठक में कोर ग्रुप के सदस्य, जिलों के प्रभारी मंत्री और अधिकारी उपस्थित थे।


8,419 नए प्रकरण: प्रदेश में 8,419 नए प्रकरण आए हैं, 10,157 मरीज स्वस्थ हुए हैं तथा एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर एक लाख 8 हजार 716 हो गई है। ग्रोथ रेट 1.5% तथा 7 दिन की औसत पॉजिटिविटी 15.6% रह गई है। आज की पॉजिटिविटी 12.7 प्रतिशत है।


कोविड से अनाथ हुए बच्चों के लिए विशेष योजना: मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड से अनाथ हुए बच्चों के लिए प्रदेश में विशेष योजना बनाई गई है। इसमें ऐसे बच्चों को प्रति परिवार प्रतिमाह 5 हजार रूपए की राशि पेंशन के रूप में दी जाएगी। साथ ही इनकी नि:शुल्क पढ़ाई की व्यवस्था सरकार करेगी, इन्हें नि:शुल्क राशन भी दिया जाएगा। बच्चों के पिता की मृत्यु पर माता को काम-काज के लिए सरकार जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिलवाएगी।


बारिश का अंदेशा, कोविड केयर सेंटर्स व उपार्जित गेहूँ की सुरक्षा करें: मुख्यमंत्री  ने कहा कि मौसम विभाग के अनुसार आगामी दिनों में बारिश का अंदेशा है, अत: हर जिले में उपार्जित किए गए गेहूँ की सुरक्षा तथा अस्थाई कोविड केयर सेंटर्स की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए।


टेस्टिंग बढ़ाएं: मुख्यमंत्री ने निवाड़ी एवं श्योपुर जिलों की समीक्षा के दौरान दोनों जिलों में टेस्टिंग बढ़ाए जाने के निर्देश दिए। श्योपुर अस्पताल में आई.सी.यू. बेड्स बढ़ाए जाएं। निवाड़ी जिले में 50 प्रकरण औसत प्रतिदिन आ रहे हैं, ग्रोथ रेट 1.6% तथा साप्ताहिक पॉजिटिविटी 11.9% है। श्योपुर जिले में 61 प्रकरण प्रतिदिन आ रहे हैं, ग्रोथ रेट 1.8% तथा साप्ताहिक पॉजिटिविटी 12.7% है। श्योपुर में 'योग से निरोग' का प्रयोग अच्छा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी जिलों में इसका अधिक से अधिक प्रयोग किए जाने के निर्देश दिए।


2280 मरीजों का मुख्यमंत्री कोविड कल्याण योजना में नि:शुल्क इलाज: प्रदेश में हाल ही में प्रारंभ की गई मुख्यमंत्री कोविड कल्याण योजना के अंतर्गत आज तक संबद्ध 419 निजी अस्पतालों में 2280 कोविड मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। शासकीय अस्पतालों एवं अनुबंधित अस्पतालों को मिलाकर कुल 26 हजार 970 कोविड मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने योजना के त्वरित क्रियान्वयन के लिए सभी संबंधितों को बधाई दी।


अधिवक्ताओं के उपचार के लिये को 5 करोड़ रूपये की चिकित्सा सहायता राशि स्वीकृत : डॉ. मिश्रा,अधिवक्ता कल्याण-निधि न्यास समिति की बैठक में लिए महत्वपूर्ण निर्णय



MP NEWS:  गृह एवं विधि-विधायी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि  अधिवक्ताओं के उपचार के लिए  5 करोड़ रूपये तक की चिकित्सा सहायता राशि स्वीकृत की गई है। उन्होंने बताया कि गत दिवस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई अधिवक्ता कल्याण-निधि न्यास समिति की बैठक में अधिवक्ताओं के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए।

   डॉ. मिश्रा ने बताया कि मध्यप्रदेश अधिवक्ता सहायता योजना 2021 के तहत कोरोना से गंभीर रूप से संक्रमित अधिवक्ताओं के उपचार के लिए राज्य अधिवक्ता परिषद को 5 करोड़ रूपये की राशि स्वीकृत करने का निर्णय लिया गया हैं। कोरोना से गंभीर रूप से संक्रमित अधिवक्ताओं को राज्य अधिवक्ता परिषद के निर्धारित प्रपत्र प्रस्तुत करने के बाद ईलाज करने वाले अस्पताल के खाते में राशि अंतरित की जाएगी। उन्होंने बताया कि कोरोना के अतिरिक्त अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित अधिवक्ताओं के उपचार के लिए भी एक करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है।

   डॉ. मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री अधिवक्ता कल्याण स्कीम 2012 के तहत 43 दिवंगत अधिवक्ताओं के परिवार को एक-एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दिए जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में भी 303 दिवंगत अधिवक्ताओं को उक्त योजना के तहत एक-एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की जा चुकी है। 

  वर्चुअली आयोजित इस बैठक में प्रमुख सचिव विधि श्री सत्येंद्र सिंह, सचिव न्यायिक श्री गोपाल श्रीवास्तव,  अध्यक्ष राज्य अधिवक्ता कल्याण परिषद जबलपुर डॉ. विजय कुमार चौधरी, सचिव श्री प्रसाद दुबे, महाप्रबंधक एसबीआई सुश्री भावना और अन्य मौजूद रहे।

State government to give Rs 5,000 monthly pension to poor Corona-affected families: CM Shivraj Singh Chouhan,Free ration will also be distributed Interest-free loan will be provided for setting up business

MP NEWS: Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has said that several families have lost their earning members and bread earners due to Corona pandemic. Such families are facing severe financial crisis. Children have lost their fathers and guardians, old parents have lost their sons and earning members of the family. The state government will provide Rs 5 thousand per month pension to such families.



   MP NEWS: Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has said that several families have lost their earning members and bread earners due to Corona pandemic. Such families are facing severe financial crisis. Children have lost their fathers and guardians, old parents have lost their sons and earning members of the family. The state government will provide Rs 5 thousand per month pension to such families.

  Chief Minister Shri Chouhan said that orphans, elderly and families will not have any problem in livelihood. The state government will take full care of this. Free education will be arranged for orphaned children, so that they can continue their education without hindrance. Orphans, elderly and families will be provided free ration with or without eligibility. The problem of their food will be solved.

  Chief Minister Shri Chouhan said that interest-free loan will be provided on the guarantee of the state government to members of families of orphaned children and senior citizens who want to set up their own business. State government will provide support to families who have no support. Orphans childrens are of our state. They will be taken care of by the state and the state government. The state government cannot leave any child in the lurch.

  Chief Minister Shri Chouhan said that the Corona pandemic has destroyed many families. Many children have lost their parents, guardians and family members. With no bread winner in the families, such children have no means of livelihood.

कोरोना संक्रमण ने कई परिवारों को तोड़कर रख दिया,ऐसे परिवार के लिये सरकार बनेगी सहारा,इन परिवारों को रु. 5000 प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी-सीएम शिवराज

 बड़ी खबर: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा ऐलान किया। जहा कोरोना संक्रमण ने कई परिवारों को तोड़कर रख दिया। कई परिवार ऐसे हैं, जिनके बुढ़ापे का सहारा छिन गया और कुछ ऐसे बच्चे हैं, जिनके सिर से पिता का साया उठ गया है।वे बच्चे, जिनके पिता, अभिभावक का साया उठ गया और कोई कमाने वाला नहीं है, इन परिवारों को शिवराज सरकार द्वारा रु. 5000 प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी।



बड़ी खबर: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा ऐलान किया। जहा कोरोना संक्रमण ने कई परिवारों को तोड़कर रख दिया। कई परिवार ऐसे हैं, जिनके बुढ़ापे का सहारा छिन गया और कुछ ऐसे बच्चे हैं, जिनके सिर से पिता का साया उठ गया है।वे बच्चे, जिनके पिता, अभिभावक का साया उठ गया और कोई कमाने वाला नहीं है, इन परिवारों को शिवराज सरकार द्वारा रु. 5000 प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी।

ऐसे सभी बच्चों की शिक्षा का नि:शुल्क प्रबंध किया जाएगा, ताकि वे अपनी पढ़ाई-लिखाई जारी रख सकें। पात्रता ना होने के बावजूद भी ऐसे परिवार को फ्री राशन दिया जायेगा, ताकि भोजन का इंतजाम हो सके।

यदि ऐसे परिवार में कोई सदस्य ऐसा है या हमारी जिस बहन के पति नहीं रहे और वो कोई काम-धंधा करना चाहें तो सरकार की गारंटी पर बिना ब्याज के उन्हें ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा, ताकि फिर से वे जीवन यापन के लिए अपना काम-धंधा प्रारंभ कर सकें। 

ऐसे दु:खी परिवारों को हम बेसहारा नहीं छोड़ सकते हैं, उनका सहारा हम हैं, प्रदेश की सरकार है। ऐसे बच्चों को भी चिंता करने की जरूरत नहीं है, वो प्रदेश के बच्चे हैं, प्रदेश उनकी देखभाल करेगा, प्रदेश उनकी चिंता करेगा। 

Corona pandemic is gradually coming under control,All precautions to prevent Corona infection must be taken-CM Shivraj Singh Chouhan



   Chief Minister Shri Shivraj Singh Chouhan has said that there is widespread public support for preventing Corona infection. Corona pandemic is gradually coming under control due to strict adherence to Corona curfew. The number of newly infected cases of Corona has now come to four digits in the state. Madhya Pradesh now ranks 15th among major states of the country in terms of Corona infection. The positivity rate has been declining and has reached below 14 percent from 25 percent, but we should not become careless. There is need to be more cautious now. There is a long way to go to eradicate Corona infection.


 Chief Minister Shri Chouhan said that Corona virus spreads less on its own. This virus spreads more due to our behaviour. If we go to weddings, crowded areas and grand celebrations, the Corona infection spreads faster. Till Corona curfew is implemented with public support, no one should come out of their houses. Marriages must not be organized in the month of May. In the month of June, when Corona infection comes under control, marriages etc. can be organized at a small level.


  Chief Minister Shri Chouhan said that Corona infection has spread to some villages as well. The Kill Corona campaign has been launched to control it. Government staff is taking the pains to visit every house. The government staff is accompanied by political, social workers and senior citizens of the village. Chief Minister Shri Chouhan said that if anyone has symptoms of Corona including cold, fever etc., one must not hide. Treatment is possible. The government has made free treatment available. Private hospitals contracted with government hospitals will also provide free treatment. Patients can also go to Covid Care Centers for treatment. At present, there are 2 crore 40 lakh Ayushman card holders in the state. Corona victims who are poor, belong to lower middle class and Ayushman card holder will also be treated free of cost in private hospitals. If the family has an Ayushman card, then the Ayushman card of the remaining members of the family will also be made.


  Chief Minister Shri Chouhan said that according to international standards, if the positive rate falls below 5 percent, then it is a sign of Corona control. In areas where positivity rate has gone below 5 percent, Corona curfew will be gradually lifted in the district in a scientific manner after May 17. Corona curfew will not be lifted in districts where the positivity rate will remain high. The Chief Minister has appealed to the people of the state to strictly follow the Corona curfew.


  Chief Minister Shri Chouhan said that there are reports of people suffering from Black Fungal disease. But there is nothing to worry. This disease will also be treated free of cost. In case of illness, there must be no delay. If disclosed on time, treatment of this disease is also possible. The entire Madhya Pradesh is one family. Everyone has to break the chain of Corona infection. Corona infection prevention measures must be strictly followed. Chief Minister Shri Chouhan said that everyone must work to make the Kill-Corona Campaign a success. There is no shortage of beds, oxygen and medicines in hospitals. Any disaster can be faced with public support.


  Crisis management committees have been formed at the ward level in the blocks, villages, cities and districts. Members of these committees are working on a war footing to prevent Corona infection with public support. Treatment facility is available at the Covid Care Centers. The roots of Corona must be struck for the last time. Do not leave your house or village. If suffering from Corona, stay in isolation. Make your village, block, city and district Corona free. Everyone must take part in this great campaign. We have to save our state from Corona. We must regain normalcy soon.


कोरोना महामारी धीरे-धीरे नियंत्रण में आ रही है,कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पूरी सावधानी बरतें-मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

 


एमपी न्यूज़:  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने में व्यापक जन-सहयोग मिल रहा है। कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन होने से कोरोना महामारी धीरे-धीरे नियंत्रण में आ रही है। कोरोना के नए संक्रमित प्रकरणों की संख्या प्रदेश में अब चार अंकों में आ गई है। कोरोना संक्रमण के मामले में देश के बड़े राज्यों में मध्यप्रदेश 15वें स्थान पर आ गया है। पॉजिटिविटी दर 25 प्रतिशत से लगातार घटकर 14 प्रतिशत से नीचे आ गई है, लेकिन हमें निश्चिंत नहीं होना है। अभी अधिक सावधानी की जरूरत है। कोरोना संक्रमण को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए लंबा सफर तय करना है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस अपने आप कम फैलता है। यह वायरस हमारे व्यवहार से ज्यादा फैलता है। यदि हम शादी ब्याह, भीड़ और बड़े समारोह में गए तो कोरोना संक्रमण तेज गति से फैलता है। जन-सहयोग से लागू कोरोना कर्फ्यू जब तक है तब तक कोई भी घरों से बाहर नहीं निकले। मई माह में शादी-ब्याह नहीं करें। जून माह में कोरोना संक्रमण नियंत्रित होने पर शादी-ब्याह आदि आयोजन छोटे स्तर पर किए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण कुछ गाँव में भी फैला है। इसे नियंत्रित करने के लिए किल कोरोना अभियान चल रहा है। सरकारी अमला मेहनत के साथ घर-घर दस्तक दे रहा है। सरकारी अमले के साथ राजनैतिक, सामाजिक कार्यकर्ता, गाँव के वरिष्ठ जन शामिल हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यदि सर्दी, जुकाम, बुखार आदि कोरोना के लक्षण हैं, तो छुपाए नहीं, बताएँ। उपचार संभव है। सरकार ने नि:शुल्क उपचार की व्यवस्था की है। सरकारी अस्पतालों के साथ अनुबंधित निजी अस्पतालों में भी नि:शुल्क उपचार होगा। मरीज चाहे तो कोविड केयर सेंटर में जाकर भी अपना उपचार करवा सकते हैं। इस समय प्रदेश में 2 करोड़ 40 लाख आयुष्मान कार्ड धारी हैं। गरीब, निम्न मध्यम वर्गीय आयुष्मान कार्ड धारी कोरोना पीड़ितों का प्राइवेट अस्पताल में भी नि:शुल्क इलाज होगा। परिवार के पास एक आयुष्मान कार्ड है तो परिवार के बाकी सदस्यों का भी आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार यदि पॉजिटिविटी दर 5 प्रतिशत से नीचे आती है तो यह कोरोना संक्रमण के नियंत्रित होने का संकेत है। ऐसे जिले जहाँ कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 5 प्रतिशत से नीचे आ गई है वहाँ 17 मई के बाद धीरे-धीरे वैज्ञानिक ढंग से कोरोना कर्फ्यू को हटाया जा सकेगा। जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ा रहेगा वहाँ कोरोना कर्फ्यू नहीं खुलेगा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि वे कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करें।

  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ब्लैक फंगस बीमारी होने के समाचार मिल रहे हैं। लेकिन चिंता नहीं करें। इस बीमारी का भी नि:शुल्क इलाज कराएंगे। बीमारी होने की स्थिति में देर नहीं करें। शीघ्र बताएँ। इस बीमारी का भी इलाज संभव है। पूरा मध्यप्रदेश एक परिवार है। सबको मिलकर कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ना है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के उपायों का कड़ाई से पालन करना है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किल-कोरोना अभियान को सफल बनाएँ। अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन, दवाइयों की कोई कमी नहीं है। जन-सहयोग से किसी भी आपदा का सामना किया जा सकता है।

  जिला, ब्लाक, ग्राम और शहर के वार्ड स्तर पर क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों का गठन किया गया है। इन समितियों के सदस्य जन-सहयोग से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए युद्ध स्तर पर कार्य कर रहे हैं। कोविड केयर सेंटर में इलाज की व्यवस्था है। कोरोना की जड़ों पर अंतिम प्रहार की जरूरत है। गाँव और घर से बाहर नहीं निकले। कोरोना से पीड़ित होने पर आइसोलेशन में रहे। अपने गाँव, ब्लॉक, शहर और जिले को कोरोना मुक्त बनाएँ। सभी जन इस महा अभियान में जुटे। हमें अपने प्रदेश को कोरोना से बचाना है। शीघ्र ही सामान्य स्थिति प्राप्त करना है।



राजगढ़ में कोरोना मुक्ति के लिये औषधि युक्त चलित महायज्ञ हुआ,महायज्ञ से होगा विषाणु का नाश ओर बनेगा धार्मिक माहौल....

 


 राजगढ़(धार)। कोरोना वायरस के प्रकोप से मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से सराफा द्वारा राजगढ़ नगर में चलित महायज्ञ कराया गया। यह चलित महायज्ञ राजगढ़ के अति प्राचीन माताजी मन्दिर से ज्योतिषाचार्य पुरुषोत्तम भारद्वाज के शुभाशीर्वाद से ओषधि युक्त महायज्ञ पूरे नगर में भृमण कराया गया। साथ चलित महा यज्ञ को आहुति सराफा एसोसिएशन के सदस्य व नगर के लोग नज़र आए तो पंडित जी वाहन से मंत्रो का जाप करते नज़र आए।

    ज्योतिषाचार्य  गुरुदेव श्री पुरुषोत्तमजी भारद्वाज ने बताया कि हवन कुण्ड में देव प्रिय सामग्री के साथ ही विभिन्न प्रकार की औषधियों का उपयोग कर नगर में वातावरण को शुद्ध करने के साथ ही सात्विक व सकारात्मक माहौल बनाने के लिए आहुतियां दी गई।निश्चित ही औषधियों की आहूति से कई प्रकार के वायरस नष्ट होगे। साथ ही नगर में धार्मिक माहौल के साथ ही एक सकारात्मक माहौल बन पाएगा। हवन के द्वारा देवगण पितृगण ईश्वर से संकट मुक्ति की प्रार्थना की जाना यह सराफा एसोसिएशन का प्रयास सराहनीय है।

  एसोसिएशन के अध्यक्ष निलेश सोनी ने बताया कि कोरोना मुक्ति के लिये औषधि युक्त चलित महायज्ञ से लोगो मे सकरात्मक विचार का संचार होगा व विषाणु का नाश होगा ओर धार्मिक माहौल बनेगा।

  सराफा एसोसिएशन सचिव दिलीप फरबदा,संरक्षक चांदमल सोनी उपाध्यक्ष सुरेन्द्र सोनी,उपाध्यक्ष बसन्त जैन,सेवन्तिलाल सराफ ,सहसचिव सोनिक सराफ, कोषाध्यक्ष नवीन पुराणी, कमलेश सोनी मोतीसिंह राठौर ,लाला माहेश्वरी, प्रितेश सराफ ,हरिओम सोनी, रोचक खजांची, मनोज सराफ ,विनेश जैन,चेतन सोनी ,विशाल सोनी, आजाद फरबदा, प्रफुल सराफ ,कीर्ति सराफ,आकाश जैन ,गौरव नाना सेठ संजय जैन ,दीपांश ठाकर,हेमन्त रोकड़िया सहित सदस्य ने कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए महायज्ञ में बारी-बारी से आहुति दे रहे थे व नगर में भ्रमण कराने की व्यवस्था संभाली ।