BREAKING NEWS
latest

व्यसनों की गुलामी से मुक्त हो-मुनि श्री रजतचन्द्र विजय जी....


 


 झाबुआ: गुरु समर्पण चातुर्मास के अंतर्गत नवकार आराधना के दूसरे दिन आचार्य भगवंत श्री ऋषभचंद्र सूरीश्वरजी महाराजा साहेब के शिष्य प.पू मुनिराज श्री रजतचंद्र विजयजी महाराज साहेब ने अरिहंत पद एवं सिद्ध पद की महिमा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संसार में परोपकार के भंडार यदि कोइ है तो वे अरिहंत प्रभु है। अरिहंत के 12 गुण एवं सफेद वर्ण  है। अरिहंत के गुण प्रभाव से 6 माह तक अकाल मृत्यु नहीं होती हे। सभी प्राणी अपनी अपनी भाषा में भगवान की देशना को समझ लेते हैं। सिद्ध भगवान से सिद्धि पद की कामना करे। संसार के दलदल मे फसाने से बचाये वह नवकार मंत्र है। प्रवचन देते हुए मुनिश्री रजतचंद्र विजयजी ने कहा नवकार की माला नासिका के नीचे व नाभी मंडल से ऊपर रखकर गिनना चाहिये । एक माला एक आसन एक जैसे भाव में शुभ निमित्त बनते है। नवकार की महिमा पर श्रीमती द्वारा सर्प फुल माला बनी प्रसंग बताया गया। नवकार का प्रतिदिन जाप करने वाले धर्मनिष्ट सुश्रावक का प्रसंग बताया जिनके नवकार गिने हुए 108 पत्थर सोने के बन गए थे।

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर मुनि श्री ने देशवासियों को बधाई देते हुए संदेश दिया गुलामी से आजादी के पर्व पर व्यसनों की गुलामी से मुक्त हो। पाश्चात्य संस्कृति के फैशन से मुक्त हो। कर्मों की जंजीरों से मुक़्त होना चाहिए यही सच्ची आजादी है। नगर की धर्मप्रेमी श्राविकाओ ने दीप प्रज्जवलन किया। भक्ताभर गौतम इक्कीसा व गुरु चालीसा का पाठ मुनिश्री जीतचंद्र विजयजी ने कराया। नवकार का सुंदर गीत श्रीमती कटारिया ने गाया। अनेकों आराधक नियमित क्रम अनुसार श्वेत वस्त्रधारण कर आराधना कर रहे हैं। प्रतिदिन नवकार मंत्र सहित 5 आरतीयां की जा रही है। प्रवचन प्रभावना कमलेशजी कोठारी व गौतम स्वामी की आरती धनुसुखजी संघवी ने की। मुनिश्री ने लब्धितप आराधक एवं नवकार आराधक को सामुहिक पच्चखाण दिये ।मंदिर शुद्धिकरण अभियान के अभय चोपड़ा नागदा जं. व सुनील फरबदा राजगढ़ ने विनंती पत्र मुनिश्री को प्रस्तुत किया । तपस्वी की अनुमोदना चौबीसी नैना राकेश मेहता के लब्धि तप निमित्त में राकेश कुमार ऋषभ कुमार महेता की ओर से की गई।

लब्धितप के तपस्वी के बियासना लाभार्थी प्रातः ज्ञानचंद्र महेता शाम संजय काठी द्वारा होंगे। लब्धितप की अनुमोदना सभा 25 अगस्त एवं 26 अगस्त को पारणा किये जायेंगे।

« PREV
NEXT »

No comments