BREAKING NEWS
latest

कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने किया सरदारपुर का दौरा,टीकाकरण सेंटर व खरमोर अभ्यारण्य का अवलोकन किया....

 Jansampark Madhya Pradesh Directorate of Health Services, Madhya Pradesh Department of Forest,Kharmor abhyaran (खरमोर अभ्यारण), Madhya Pradesh

 सरदारपुर। कलेक्टर आलोक कुमार सिंह आज सरदारपुर विकासखण्ड के दौरे पर रहे। सर्वप्रथम श्री सिंह ने वैक्सिनेशन महाभियान के अंतर्गत सरदारपुर विकासखंड के सुदूर आदिवासी अंचल के गांव तिरला के आंगनवाड़ी केंद्र में चल रहे टीकाकरण कार्य का अवलोकन किया।यहां  लोगो का भारी उत्साह देख कहा जल्द ही लक्ष्य की पूर्ति कर लेंगे। इसके पश्चात श्री सिंह ने ग्राम धुलेट की आंगनवाड़ी में बने टीकाकरण सेंटर का अवलोकन किया। साथ ही यहां ऑब्जर्वेशन बैठे लोगों से चर्चा भी की। इसके पश्चात वह ग्राम दत्तिगांव में उप स्वास्थ्य केंद्र में संचालित टीकाकरण सेंटर का अवलोकन कर यहां वैक्सीन लगवाने आई बालिकाओं से चर्चा भी की। कलेक्टर श्री सिंह भ्रमण के दौरान चर्चा करते हुए कहा कि आज जिले के 136 केन्द्रों पर मुख्यमंत्री के निर्देशन में वैक्सीलेशन का विशेष महाअभियान चल रहा है। यह अभियान गुरूवार को भी जारी रहेंगा। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि आज 60 हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण करना है। आज सरदारपुर के सबसे दूरस्थ क्षेत्रों का दौरा किया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में टीकाकरण को लेकर भारी उत्साह है, । अधिकांश जगहों पर जो लक्ष्य दिया था, दोपहर तक लक्ष्य के 75 प्रतिशत तक लोगों का वैक्सीलेशन हो चुका है।
     कलेक्टर श्री सिंह ने यह अभियान निश्चित रूप से आज के समय में कोरोना से बचाव का यह सबसे बड़ा सुरक्षा चक्र है। अभी तक हमारे जिले में 50 प्रतिशत से अधिक लोगों का प्रथम वैक्सीलेशन कर चुके है। उन्होंने कहा कि इस दौरे में यह भी प्रयास है कि जिनको प्रथम डोज लग गए है और जिनके द्वितीय डोज नही लगे है, उनका भी द्वितीय डोज लगाया जाएगा। गुरुवार को भी यह विशेष दिन रहेगा।
      कलेक्टर श्री सिंह ने खरमोर अभ्यारण्य का अवलोकन किया। उन्होने कहा कि यहॉ खरमोर पक्षी आते हैं।पिछले माह  वन मण्डलाधिकारी के साथ एक प्रपोजल बनाया है कि जिस क्षेत्र में खरमोर पक्षी आते है साढे पॉच सौ हैक्टेयर का है।वन मण्डलाधिकारी ने प्रोपलजल बनाया है कि इसका एरिया कम न हो, वन क्षेत्र में जो एरिया आता है, जहॉ पर ज्यादा संभावनाएं है, उसको बढ़ाते हुए इसका एक प्रपोजल शासन को भेज चुके है।प्रयास रहेगा कि खरमोर पक्षी जो हमारे जिले की शान है। इनका जो अभ्यारण है, वह पूरी तरह से सुरक्षित रहे। इनका एरिया वन क्षेत्रों में ज्यादा बढ़े और राजस्व के क्षेत्रों के लिए जो परेशानी है उसका भी प्रस्ताव शासन स्तर से विचार के लिए भेज चुके हैं।

« PREV
NEXT »

No comments