BREAKING NEWS
latest

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश गत कई वर्षों से देश में कीर्तिमान स्थापित कर रहा है

 

  MP NEWS: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश गत कई वर्षों से देश में कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण में हमारा इंदौर शहर गत 04 वर्षों से लगातार भारत का स्वच्छतम शहर चुना जा रहा है। इसके साथ ही हमारे अन्य नगरीय निकाय भी स्वच्छता के क्षेत्र में अग्रणी बन रहे हैं। हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं कि हम मध्यप्रदेश को स्वच्छता के सभी घटकों में नं-1 बनाएंगे।

  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि 'स्वच्छता के क्षेत्र में मध्यप्रदेश की उपलब्धियों के लिए मैं मुख्य रूप से सभी सफाई कर्मियों को बधाई देता हूँ तथा उनका अभिनंदन करता हूँ।' परिवेश को स्वच्छ रखना हर नागरिक का कर्तव्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज स्थानीय मिंटो हॉल में स्वच्छता सेवा सम्मान-2020 वितरित कर रहे थे। उन्होंने स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में विभिन्न क्षेत्रों में अव्वल आने वाले प्रदेश के इंदौर, भोपाल, उज्जैन, सागर, जबलपुर सहित कई नगरीय निकायों को सम्मानित किया।

  कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, विभाग के राज्य मंत्री श्री ओ.पी.एस. भदौरिया, सांसद सुश्री प्रज्ञा ठाकुर, इंदौर की महापौर श्रीमती मालिनी गौड़, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, विभाग के प्रमुख सचिव श्री नीतेश व्यास आदि उपस्थित थे।

     'सकारे से सफाई को काम चालू करते थे'- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सागर, सिंगरौली एवं इंदौर नगर निगम के सफाई कर्मियों से बातचीत कर पूछा कि उन्होंने किस तरह अपने नगरीय निकाय को अव्वल बनाया। सागर की सुश्री राजकुमारी ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे सुबह से ही सफाई के काम में लग जाती थीं ( 'सकारे से सफाई को काम चालू करत थे') और शाम तक अपनी टीम के साथ लगी रहती थीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पूरी टीम को बधाई दी।

     4 'आर' का प्रयोग किया- सिंगरौली के युवा सफाई समूह के सदस्य आशीष एवं महजबीन ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्होंने 3 आर अर्थात रिसाइकिल, रिड्यूज एवं रीयूज के साथ ही चौथा आर 'रिफ्यूज' का भी प्रयोग किया जिससे स्वच्छता प्राप्त करने में आसानी रही। रिफ्यूज का अर्थ है पॉलीथीन आदि ऐसी वस्तुओं के उपयोग को नकारना जो पर्यावरण को हानि पहुंचाते हैं।

    प्रधानमंत्री ने दी स्वच्छता की प्रेरणा- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारे दूरदर्शी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता के महत्व को पहचाना। उन्होंने स्वयं भी झाड़ू पकड़ी और दूसरों को भी पकड़ाई। स्वच्छता के इस अभियान से आज दुनिया में भारत की अलग पहचान बनी है। स्वच्छ, सुंदर, स्वस्थ भारत।

   स्वच्छता में ईश्वर का निवास- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वच्छता में ही ईश्वर का निवास है। स्वच्छता से ही स्वास्थ्य है, समृद्धि है तथा सुख है।

    मैं भी सफाईकर्मी हूँ- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमें हर क्षेत्र में प्रदेश को स्वच्छ बनाना है। स्वच्छ परिवेश, मिलावटहीन स्वच्छ खाद्य सामग्री, गुंडों एवं बदमाशों से रहित स्वच्छ प्रदेश। मैं मध्यप्रदेश से मिलावटखोरी, अपराधों आदि की गंदगी को मिटा दूंगा। मैं भी एक सफाईकर्मी हूँ।

    जीरो वेस्ट वार्ड- इंदौर नगर निगम के वार्ड क्रं-73 की सुश्री फातिमा आदि ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्होंने अपने वार्ड को 'जीरो वेस्ट वार्ड' बनाया है। अर्थात उनके वार्ड में निकलने वाले गीले एवं सूखे कचरे को वे रियूज व रिसाइकिल कर लेते हैं। गीले कचरे से खाद आदि बन जाती है व सूखे कचरे से विभिन्न कलात्मक चीजें बना लेते हैं। इस प्रकार उनके वार्ड से कोई कचरा नहीं निकलता। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस प्रयास की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि हमें मध्यप्रदेश को भी 'जीरो वेस्ट प्रदेश' बनाना है।

      कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के कुशल मार्गदर्शन के कारण ही स्वच्छ सर्वेक्षण में प्रदेश को विशेष उपलब्धियाँ मिली हैं। आगे हम और बेहतर करेंगे। राज्य मंत्री श्री ओ.पी.एस. भदौरिया ने भी संबोधित किया। आभार प्रदर्शन आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री निकुंज श्रीवास्तव ने किया।

« PREV
NEXT »

No comments