BREAKING NEWS
latest

ग्राम कंजरोटा में भागवत कथा के तहत मनाया श्रीकृष्ण जन्मोत्सव, नाचे-झूमे श्रद्धालु, जीभ पर राम नाम का श्रृंगार कर ले तो मनुष्य भव पार हो जाता है - कथावाचक श्री भारद्वाज





 राजगढ़(धार)। । इस देह का श्रृंगार जो बाहर से कर रहें है, यह श्रृंगार कर हम बहुत खुश हो रहे है, लेकिन अगर कोई दूसरा आपसे बढ़िया श्रृंगार करके आपको रूला देगा। श्रृंगार ऐसा होना चाहिए की हम उसे करें तो ख़ुशी कम ना हो और उसी कोई दूसरा करे ता हमे दोगुनी ख़ुशी हों। पुरे शरीर का श्रृंगार हम अच्छी तरह कर लेते है लेकिन शरीर के एक स्थान का श्रृंगार हम नही कर पाते है, हम भूल जाते है, वह स्थान जीभ है। हम हमारी जीभ का श्रृंगार नही कर पाते है। उक्त बाते है पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के प.पू. गुरूदेव ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज द्वारा ग्राम कंजरोटा के देवराज नगर में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन कथा का वाचन करते हुए कही। आगे कथा का वाचन करते हुए श्री भारद्वाज ने कहा की मनुष्य भले ही अच्छे-अच्छे पकवान खा ले, बहुत चटनीयां खा ले पर यह जीभ का श्रृंगार टिकाऊ नही है। जब तक चटनी जीभ पर है तब तक स्वाद है लेकिन गले में उतरते ही स्वाद खत्म हो जाता है। हमें हमारी जीभ को मीठा बनाना है और जीभ का सबसे बड़ा श्रृंगार एक ही है और वह राम नाम का श्रृंगार है। हम अगर जीभ पर राम नाम का श्रृंगार कर ले तो भव सागर पार हो जाते है। यह श्रृंगार कर ऐसा बोले की सभी को अच्छा लगे। जीभ पर राम नाम का श्रृंगार कर हर जगह, हर बार अच्छा बाले जिससे सभी को सुनने में आनंद आ जाए और इसी से देह का श्रृंगार पूर्ण  होता है। 

मनाया श्रीकृष्ण जन्मोत्सव - ग्राम कंजरोटा के देवराज नगर में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण करने गांव सहित आसपास से बड़ी संख्या में श्रृद्धालु पहुंच रहें है। रविवार को कथा के चौथे दिन भगवान श्री राम एवं श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के दौरान "नंद घर आनंद भयो" से पूरा परिसर गूंज उठा एवं श्रद्धालु नाचने-झूमने लगे। कथा के तहत आज सोमवार को गोवर्धन पूजा एवं मंगलवार को रुक्मणी हरण का प्रसंग सुनाया जाएगा। 

रात्रि में हो रही है भजन संध्या - गांव के देवराज नगर में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के तहत दिन में भागवत कथा एवं रात्रि में भजन संध्या का आयोजन हो रहा है। आयोजक समिति के लक्ष्मण डामेचा ने बताया कि प्रतिदिन अनेक आयोजन हो रहें है। शनिवार रात्रि में कबीर भजन संध्या का आयोजन हुआ था। इस दौरान आसपास के कलाकारों द्वारा मधुर कबीर भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। मंगलवार को सुन्दरकाण्ड एवं भजन संध्या होगी।जिसमें गांव सहीत आसपास क्षेत्र के श्रृद्धालु शामिल होंगे। कथा में ग्रामवासियों का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है।
« PREV
NEXT »

No comments