BREAKING NEWS
latest

कहीं बिचैलियों और कालाबाजारियों को लाभ पहुचाने के लिये तो नहीं सड़ा दिया गया केन्द्र सरकार के गोदामों में 32 हजार टन प्याज? : शोभा ओझा



   भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज जारी अपने वक्तव्य में कहा कि प्याज के बढ़ते हुए दामों को लेकर, केंद्र सरकार पूरी तरह से नाकाम सिद्ध हुई है। श्रीमती ओझा ने केन्द्र सरकार पर उक्त आरोप लगाते हुये कहा कि एक तरफ तो देशभर में प्याज की कीमतें असामान छू रही हैं, वहीं दूसरी तरफ प्याज को लेकर केंद्र सरकार अपने हाथ खड़े करते हुए दिखाई दे रही है। केन्द्र सरकार के गोदामों में 50 फीसदी प्याज सड़ जाने से यह आशंका भी प्रबल हो गई है कि कहीं यह बिचैलियों और कालाबाजारियों को लाभ पहुंचाने के लिये जानबूझ कर किया जाने वाला कृत्य तो नहीं है? 

  श्रीमती ओझा ने इस संबंध में आगे बताया कि बुधवार को संसद में केंद्रीय उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने यह स्वीकार किया है कि इस साल बारिश और बाढ़ के चलते प्याज की पैदावार में 26 फीसदी तक गिरावट आई है. उन्होंने यह भी कहा कि 65,000 टन प्याज का बफर स्टाॅक था, जिसमें 50 फीसदी प्याज सड़ गया है। केन्द्रीय मंत्री पासवान की इस स्वीकारोक्ति पर श्रीमती ओझा ने मोदी सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि प्याज के बफर का इतनी बड़ी मात्रा में सड़ जाना, केंद्र सरकार की एक बड़ी लापरवाही है।

  अपने बयान के अंत में श्रीमती ओझा ने कहा कि केन्द्र सरकार की इस घोर लापरवाही से देश और प्रदेश की जनता, खासतौर से गृहिणियां प्रभावित हुई हैं और ऐसे में यह भी पूरी तरह से निंदनीय है कि मध्यप्रदेश भाजपा के सभी 28 सांसद प्याज की बढ़ती हुई कीमतों के बावजूद केन्द्र सरकार का ध्यान आकर्षित करने की बजाय, अब तक खामोश बने हुये हैं।
« PREV
NEXT »

No comments