BREAKING NEWS
latest

पुलिस और स्वास्थ्य विभाग शासन की बेहतर छवि के प्रतीक : मुख्यमंत्री कमल नाथ



मुख्यमंत्री द्वारा पुलिसकर्मियों के 1813 आवासों का लोकार्पण
 भोपाल: मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि पुलिस और स्वास्थ्य विभाग नई तकनीक का उपयोग कर आम जनता को बेहतर सेवाएँ उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि यही वो दो विभाग हैं, जो शासन-प्रशासन की बेहतर छवि के प्रतीक हैं। मुख्यमंत्री कमल नाथ गोविंदपुरा में पुलिसकर्मियों के नव-निर्मित आवासों का लोकार्पण कर रहे थे।

जाँच-अनुसंधान में नई तकनीक का बेहतर इस्तेमाल करे पुलिस
मुख्यमंत्री ने कहा कि हर क्षेत्र में बदलाव आया है। काम करने के तरीके बदले हैं। जनता की अपेक्षाएं भी बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस और स्वास्थ्य विभाग सीधे जनता से जुड़े हैं। इसलिए यह जरुरी है कि इन विभागों का व्यवहार और कार्य बेहतर हो,जिससे आम जनता को राहत मिले तथा व्यवस्थाओं पर उनका विश्वास बढ़े। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस विभाग को जाँच-अनुसंधान में नई तकनीक का बेहतर इस्तेमाल करना चाहिए। इससे उनके कार्य करने की प्रक्रिया में सुधार आएगा।

अब आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का समय
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय आई.टी. क्षेत्र का महत्व था। अब हम एक कदम और आगे बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि अब आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का समय है। इन नए परिवर्तनों को अपनाने की क्षमता हमारे अंदर होना चाहिए। तभी हम जनता को उनकी अपेक्षा के अनुरुप सेवाएँ दे पाएँगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता से जुड़े विभागों को आज अपनी पूरी कार्य-प्रक्रिया पर आत्म-चिंतन करने की आवश्यकता है। इससे हम लोगों को सुखद परिणाम दे पाएंगे।
प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश पुलिस आवास एवं अधोसंरचना विकास निगम श्री संजय माने ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आज पुलिस बल के लिए एक साथ 1813 सर्व सुविधायुक्त आवास गृहों की सौगात दी है। इनमें गोविंदपुरा थाना परिसर में आरक्षक संवर्ग के लिए बनाए गए 240 नए आवास भी शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर  12 प्रशासकीय भवन एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के लिए बनाए गए 108 आवास का भी लोकार्पण किया। इन सभी आवासों एवं प्रशासकीय भवनों के निर्माण पर लगभग 334 करोड़ रुपये की लागत आई है।

सर्वसुविधायुक्त हैं आवास
मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित आवास का निर्माण भोपाल, इंदौर, विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद, राजगढ़, अनूपपुर, सागर, रायसेन, कटनी, जबलपुर, मंडला, दमोह, रीवा, सीधी, ग्वालियर, दतिया, मुरैना, श्योपुर, बैतूल, शहडोल, बालाघाट, अलीराजपुर, पन्ना एवं सिंगरौली जिलों में किया गया है। आवासीय परिसर में बच्चों के खेलने के लिए पार्क, एसटीपी, रेन वाटर हार्वेस्टिंगजनरेटर और पार्किंग आदि आधुनिक सुविधाएँ उपलब्ध कराई गई हैं। साथ ही सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।
गृह मंत्री बाला बच्चन, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट, सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील, जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा और सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री लखन घनघोरिया कार्यक्रम में शामिल हुए।
इस अवसर पर विधायक श्रीमती कृष्णा गौर और आरिफ मसूद, प्रमुख सचिव गृह  एस.एन. मिश्रा, अध्यक्ष मध्यप्रदेश पुलिस आवास एवं अधोसंरचना विकास निगम  शैलेन्द्र श्रीवास्तव, पुलिस महानिदेशक वी.के. सिंह एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


« PREV
NEXT »

No comments