BREAKING NEWS
latest

मासक्षमण तप एवं वीर गणधर लब्धितप के तपस्वियों ने किया पारणा , 33 दिवसीय आराधना का हुआ समापन



 झाबुआ। गुरु समर्पण चातुर्मास समिति ने तपस्वियों का किया बहुमान | सूरी ऋषभ पूण्योत्सव के दूसरे दिन प्रभु पार्श्वनाथ कल्याणक पूजन झाबुआ की एक्टिव कर्मठ संस्था नवकार ग्रुप द्वारा पढ़ाई गयी | रात्रि मे प्रभु अंग रचना श्री ऋषभ गुरु भक्त मण्डल की और से की गयी | पारणा कराने का लाभ संजय कांठी परिवार ने लिया | स्वधर्मीवात्सल्य कराने का लाभ सुभाषचन्द्र कोठारी व कमलेश कोठारी परिवार ने लिया | 

स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जीनालय मे आचार्य श्री ऋषभचन्द्र सुरीश्वरजी म.सा.के शिष्य पूज्य मुनिराज श्री रजतचन्द्र विजयजी और जीतचंद्र विजयजी म सा की पावन निश्रा मे 24 जुलाई से प्रारंभ 33 दिवसीय प्रभु वीर गणधर लब्धि तप के 54 तपस्वियों ने आज पारणा कर अपनी तपस्या पूर्ण की। पारणा के पूर्व तपस्वियों का संक्षिप वरघोड़ा निकला | पारणा का लाभ झाबुआ के समाजसेवी स्व. चन्द्रकान्ता नगीनलाल कांठी की स्मॄति मे संजय कांठी परिवार ने चढ़ावा लेकर किया | इसके पूर्व सभी तपस्वी अपने परिवार जनों के साथ बाजे गांजे के साथ श्री ऋषभदेव बावन जीनालय पहुँच कर प्रभु पूजन अर्चना की | 10 बजे धर्म सभा प्रारम्भ हुई | पूज्य आचार्य‌ श्री ऋषभचन्द्र सुरीजी के चित्र के समक्ष गहूंली लाभार्थी श्रीमती शोभा व अर्पित काकरेचा परिवार ने की । माल्यार्पण अभय कटारिया परिवार ने किया | अतिथियौ श्री अभय कटारिया (रानापूर ), अशोक सकलेचा मुकेश संघवी कमलेश कोठारी आदि ने दीप प्रज्जवलित किया | पूज्य मुनि श्री रजतचन्द्र विजय जी म सा की मातुश्री श्रीमती पारसमणी बेन का बहुमान चातुर्मास समिति ने किया गया | मुनि श्री जीतचन्द्र विजय जी ने गुरु के प्रति समर्पण गीत और स्तवन प्रस्तुत किया कु.अरना छाजेड एवं श्रीमती बरखा ने तपस्या अनुमोदन गीत प्रस्तुत किया  | मंगला चरण के साथ आज प्रवचन मे मुनिश्री ने आचार्य श्री के दीक्षा जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहाँ की हमारे गुरुदेव श्री ऋषभचन्द्र सुरीश्वर जी की दीक्षा 23 जून 1980 मे मोहनखेडा मे आचार्य विधाचन्द्र सुरीश्वरजी के हाथो संपन्न हुई थी |दयालु प्रक्रति के होने से धर्म क्रिया के साथ परोपकार के कार्य भी करना प्रारंभ कर दिये थे | 

आज मात्र गर्म जल के आधार पर 31 उपवास की उग्र तपस्या करने वाली श्रीमती सपना जयेश संघवी का स्वयं के निवास स्थान तक रथ मे बेठाकर वरघोड़ा निकला जीनालय तक प्रभु दर्शन के लिये जीनालय पहुँचे | पूज्य मुनि श्री रजतचन्द्र विजयजी की पावन निश्रा मे श्रीमती सपना का पारणा सम्पन्न हुआ | उनके परिवार जन के जयेश , हस्तीमल संघवी आदि उपस्थित थे।

इसके पश्चात लाभार्थी परिवार का बहुमान और 54 लब्धि तप के तपस्वियों का शाल श्री फल , प्रतीक चिन्ह , और माला पहना कर चातुर्मास समिति के सुभाष कोठारी , उत्तम लोढ़ा , नरेंद्र पागारिया ,अभय धारीवाल मुकेश रुनवाल शेलेश शाह मनोहर मोदी ,राकेश मेहता , संजय काठी सूर्या काठी आदि सदस्यों ने सभी 54 तपस्वियों का तिलक , शाल , माला पहनाकर बहुमान किया | प्रभु गौतमस्वामी जी की आरती का लाभ मनोज संघवी , गुरुदेवदेव पूज्य राजेंद्र सूरिस्वर जी आरती अनिल कोठारि परिवार और गुरुदेव आचार्य श्री ऋषभचन्द्र सुरीश्वर जी की आरती अशोक सकलेचा परिवार ने उतारी | संचालन संजय काठी ने किया | 

 |

« PREV
NEXT »

No comments