BREAKING NEWS
latest

मुख्यमंत्री शिवराज बोले: मध्यप्रदेश का मॉडल देश मे अग्रणी,बैठक से पूर्व मंत्रिमंडल के साथियों से विचार साझा किया....

 


  एमपी न्यूज़: आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट की बैठक से पूर्व मंत्रिमंडल के साथियों से विचार साझा किया। मुख्यमंत्री ने कहा हमने परिश्रम की पराकाष्ठा की और प्रयत्नों की परिसीमा की जिसका सुपरिणाम हमें मिल रहा है। आज कोरोना के 1,078 मामले आये हैं जबकि 4,000 से अधिक लोग स्वस्थ हुए हैं। हमारा रिकवरी रेट 96% से अधिक है। अलीराजपुर में एक भी केस नहीं आया। 36 ज़िले ऐसे हैं, जहाँ सिंगल डिजिट में पॉज़िटिव केस हैं। अधिकांश ज़िलों में पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे है। हम सभी ने अपनी जनता के साथ मिलके जो प्रयास किया, आज प्रदेश में उसके परिणाम आ रहे हैं। मैं इसके लिए आपको बधाई देता हूँ। मैंने कहा था कि प्रदेश को अनलॉक करें और कोरोना को लॉक करें। हमें कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर अपनाना है। आपको अपने प्रभार वाले ज़िलों का दौरा करना पड़ेगा। आगे कोई दिक्कत न हो, इसकी ज़िम्मेदारी हमारी है। आप ज़िला केंद्र में भी बैठक कर सकते हैं।

  हम सबके परिश्रम से मध्यप्रदेश आगे बढ़े, यह हमारी कोशिश है। हमने सातवाँ समूह बनाया है शिक्षा व्यवस्था के लिए। यह समूह शिक्षा से जुड़े विषयों पर निर्णय लेगा। बच्चों की शिक्षा के क्षेत्र में भी मध्यप्रदेश मॉडल बन सकता है। मध्यप्रदेश का मॉडल देश में अग्रणी है। इस कोविड काल में शिक्षा समूह की जिम्मेदारी बहुत बड़ी है। जब तक स्कूल, कॉलेज नहीं खुलते हैं, तब तक बच्चों की पढ़ाई कैसे सुचारू ढंग से चलती रहे, यह देखना होगा, ताकि बच्चे घर में बैठे-बैठे कुंठित भी न हों। कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास वर्चुअली करना प्रारंभ कर दीजिए। जो व्यवस्थाएँ बनाई जा रही हैं, वो जनता के मन में विश्वास पैदा करेगी। कोविड के अनुकूल व्यवहार के लिए जनता में जागरुकता फैलाने के लिये योजना बनाएँ। COVID19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर और वैक्सीनेशन की जागरुकता के लिए हम सब मिलकर जनजागरण का प्रयास करें। ऐसे प्रयास कोरोना के संक्रमण को समाप्त करने तथा तीसरी लहर को रोकने में भी सहायक होंगे।

« PREV
NEXT »

No comments