BREAKING NEWS
latest

1975 में आज के ही दिन भारतीय लोकतंत्र का गला घोंटकर आपातकाल लागू हुआ था-सीएम शिवराज

 आपातकाल,शिवराज सिंह चौहान,आपातकाल,वित्तीय आपातकाल,भारत में आपातकाल,राष्ट्रीय आपातकाल,राष्ट्रीय आपातकाल 352,आपातकाल के 45 साल,वित्तियआपातकाल,#आपातकाल,#DarkDaysOfEmergency आपातकालीन प्रावधान,आपातकाल का सच,आपातकाल 1975,आपातकाल 1971,राज्य आपातकाल,आपातकाल क्या है,आपातकाल क्या होता है,राहुल गांधी आपातकाल,आपातकाल इंदिरा गांधी,भारत मे आपातकाल कब लगी,आपातकाल की पृष्टभूमि,आपातकाल के गवाह पत्रकार,राष्ट्रीय आपातकाल 1975,वित्तीय आपातकाल क्या है,आपातकाल पर बोले पीएम मोदी,आपातकाल क्यों लगाया गया था,राष्ट्रीय आपातकाल,live आपातकाल,1971 का आपातकाल,शिवराज का किस्सा,शिवराज का वीडियो,शिवराज किस्सा,शिवराज स्टोरी,शिवराज वीडियो,शिवराज उज्जैन किस्सा,शिवराज लेटेस्ट वीडियो,भारत में कैसा था 1971 का आपातकाल,शिवराज उज्जैन इमरजेंसी किस्सी,bhopal bjp कार्यालय में आपातकाल पर प्रदर्शनी,कांग्रेस


  MP NEWS: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए आपात काल को लेकर कहा है कि भारत के लोकतंत्र के मूल्यों की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व झोंकने तथा आपातकाल की क्रूर यातनाओं को सहते हुए अपने प्राणों को उत्सर्ग कर देने वाले महान आत्माओं के चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि!  

  साथ ही संकल्प कि आपके सपनों के भारत के निर्माण के लिए हम सब प्राण प्रण से प्रयास करेंगे।

  गरीबी हटाओ का नारा देने वाली कांग्रेस ने आपातकाल लागू कर गरीबों के मुंह का निवाला छीनने का घनघोर पाप किया। सच्चाई के लिए उठने वाली हर आवाज पर जुल्म ढाये गये।

'समय होत बलवान'। समय ने करवट बदली और आपातकाल लगाकर जनता की शक्ति छीनने वाले स्वयं शक्तिहीन होकर कहीं के न रहे।

 1975 में आज के ही दिन भारतीय लोकतंत्र का गला घोंटकर आपातकाल लागू हुआ था।

आम नागरिकों के अधिकार छीन लिये गये,प्रेस के मुंह पर ताला जड़ दिया गया,विरोध में मुखर होने वाली आवाजों को काल कोठरी के अंधेरों में ठूंसकर चुप कराने का हरसंभव और क्रूरतम प्रयास किया गया।

« PREV
NEXT »

No comments