BREAKING NEWS
latest

श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ में सूरीमंत्र की आराधना के पश्चात 6 दिसम्बर को महामांगलिक होगी



 राजगढ़ (धार) म.प्र.  । श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा तीर्थ के तत्वाधान में दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. ने 11 नवम्बर से 25 दिवसीय सूरी मंत्र आराधना प्रारम्भ की थी । इसका समापन 6 दिसम्बर को महामांगलिक के साथ होने जा रहा है ।

जैन मूर्तिपूजक प्राचीन परम्परा के अनुसार अनन्त लब्धिवंत गुरु गौतमस्वामी जी की महाप्रभावक पंचप्रस्थान आराधना के अन्तर्गत सरस्वती, लक्ष्मी आदि की आराधना क्रमशः हर दीपावली पर आचार्यश्री द्वारा एकान्त में की जाती है ।

वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के द्वारा श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ की पावन पूण्यधरा पर मौनव्रत के साथ मंत्र जाप करके 25 दिवसीय साधना की जा रही है । इस प्रकार की सूरीमंत्र आराधना को सम्पूर्ण शास्त्रीय पद्धति से साधना करने वाले वर्तमान में दादा गुरुदेव श्री राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की परम्परा में प्रथम श्रेणी में यह साधना आचार्यश्री द्वारा की जा रही है ।

सूरीमंत्र आराधना पूर्णाहुति पर आचार्यश्री साधना स्थली से बाहर आयेगें व 6 दिसम्बर रविवार को आचार्यश्री गुरु भक्तों को दर्शन देकर महामांगलिक श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ गुरु धाम में श्रवण करायेगें । कार्यक्रम सुबह 9 बजे से 10ः30 बजे के मध्य आयोजित होगा । यह जानकारी श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट के मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ व ट्रस्टी संजय सराफ द्वारा प्रदान की गयी है ।

« PREV
NEXT »

No comments